Home उत्तर प्रदेश मंच से एसपी को तू, तड़ाक कर चैलेंज करना पड़ा भारी, एसपी...

मंच से एसपी को तू, तड़ाक कर चैलेंज करना पड़ा भारी, एसपी ने तहरीर देकर दर्ज कराया केस, 2 को जेल

274
0
blank
मंच से एसपी को तू, तड़ाक कर चैलेंज करना पड़ा भारी, एसपी ने तहरीर देकर दर्ज कराया केस, 2 को जेल

बलरामपुर। यूपी के बलरामपुर में एक बड़ा मामला सामने आया है यहां तैनात एसपी देवरंजन वर्मा ने खुद देहात थाने में बतौर वादी मुकदमा दर्ज कराया है। एक सार्वजनिक मंच से एक अधिवक्ता व उसके पत्रकार भाई के द्वारा एसपी की वर्दी उतरवाने की धमकी देने का वीडियो वायरल हुआ था। साथ ही मंच से पुलिस विभाग पर अभद्र टिप्पणी भी की गई थी। एफआईआर दर्ज होने के फौरन बाद पुलिस ने अधिवक्ता व उसके भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

विज्ञापन

मामला बलरामपुर जिले का है यहां दीपेंद्र उपाध्याय नाम के एक पत्रकार व उसके कुछ साथियों पर नगर कोतवाल राजितराम से रंगदारी मांगने व जाति सूचक गाली दिए जाने के सम्बंध में कोतवाली नगर में एससी/एसटी एक्ट सहित गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था जिसके बाद से ही पत्रकार दीपेन्द्र व उसके साथी प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए शोशल मीडिया पर लगातार पोस्ट डाल रहे थे। बीते सोमवार को सभी पत्रकारो ने आदर्श प्रेस क्लब के बैनर तले सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया था।

प्रदर्शन के दौरान पत्रकार दीपेंद्र उपाध्याय ने अपने बड़े भाई अधिवक्ता मृगेंद्र उपाध्याय को भी मंच पर बोलने के लिए बुलाया। मंच से बोलने के दौरान मृगेंद्र ने सभी मर्यादायें तोड़ते हुए जिले में तैनात एसपी देवरंजन वर्मा को तू, तड़ाक बोलते हुए उनकी वर्दी तक उतरवाने व उन्हें न्यायालय में घसीट कर पेंशन तक के लिए मोहताज कर देने की की बातें कही। जिसका वीडियो शोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

वीडियो वायरल होने के बाद सार्वजनिक रूप से अपमान झेल रहे एसपी देवरंजन वर्मा ने खुद देहात थाने जाकर 3 पन्ने की तहरीर कोतवाली देहात प्रभारी को देकर दीपेंद्र उपाध्याय व उसके अधिवक्ता भाई मृगेंद्र उपाध्याय के भाई सहित 5 – 6 अज्ञात लोगों पर मानहानि की धारा 500 आईपीसी सहित 186, 194, 420, 389, 153, 505 (2), 504, 506, 120 बी व आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत केस दर्ज कराया है।

एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि परसो एक सार्वजनिक मंच से मुझे एसपी बलरामपुर को व पूरे पुलिस विभाग के प्रति अभद्र टिप्पणी व गंदी भाषा का प्रयोग कथित अधिवक्ता मृगेंद्र उपाध्यय द्वारा किया गया था उसका भाई दीपेंद्र उपाध्याय जो फर्जी पत्रकार है ये दोनों मिलकर अपनी धौस जमाकर अवैध वसूली करते है जिसकी एफआईआर अभी कोतवाली नगर में लिखी गयी थी जिसको खत्म करने लिए दबाव बनाने का प्रयास किया जा रहा था साथ ही खुद पर फायर करके मुझे फंसाने की योजना भी बनाई गई थी। पकड़े गए दोनों भाइयों के पास से 1 अवैध असलहा भी बरामद हुआ है, दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

 

patrika-newz-mobile-app