Home उत्तर प्रदेश बैंक आफ इंडिया पर रोज उड़ती है शोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां, जिम्मेदार...

बैंक आफ इंडिया पर रोज उड़ती है शोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां, जिम्मेदार खामोश

1005
0
blank
बैंक आफ इंडिया पर रोज उड़ती है शोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां, जिम्मेदार खामोश

बलरामपुर। जिले के बैंक ऑफ इंडिया पर सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। यहां ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले ग्राहक बैंक के बाहर सुबह से ही लंबी लाइन लगाकर खड़े खड़े हो जाते हैं। यह लाइन धीरे-धीरे तब भीड़ में तब्दील हो जाती है जबकि सूरज सर पर चढ़ आता है और कड़ी धूप हो जाती। उस वक्त सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती देखी जा सकती हैं। जिससे संक्रमण का खतरा बहुत बढ़ जाता है। बावजूद इसके बैंक प्रबंधन बेपरवाह बना हुआ है। हालांकि लोगों को खुद भी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखकर बैंक में अपना काम कराना चाहिए लेकिन लोग हैं कि कोरोना जैसे खतरनाक वायरस से लापरवाह बने हुए हैं।

पूरे मामले पर बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक एस0के0 गुप्ता से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि पहले हमारे यहां यूपी पुलिस के चार गार्ड भेजे जाते थे जो सोशल डिस्टेंसिंग और लाइन को मेंटेन करते थे। लेकिन अभी सिर्फ एक गार्ड आता है जो कि बाहर खड़े लोगो को नियंत्रित करने में नाकाम हैं। हमने बैंकों के भीतर बेहतर सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था बना रखी है। बाहर की जिम्मेदारी पुलिस की है जो वह बेहतर तरीके से नही निभा रही है। जिसके चलते भीड़ बढ़ती है और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती हैं।

patrika-newz-mobile-app

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here