Home राजनीति बलरमपुर-पहाड़ी नालों से आई बाढ़ से बलरामपुर में बिगड़ रहे हालात, दर्जनो...

बलरमपुर-पहाड़ी नालों से आई बाढ़ से बलरामपुर में बिगड़ रहे हालात, दर्जनो गांवों में घुसा पानी

242
0
blank

पहाड़ी नालों से आई बाढ़ से बलरामपुर में बिगड़ रहे हालात, दर्जनो गांवों में घुसा पानी

बलरमपुर। यूपी के बलरामपुर में बाढ़ ने अब दस्तक दे दी है। राप्ती नदी यहां खतरे के निशान को पार कर गई है। बलरामपुर जिले में करीब एक दर्जन पहाड़ी नाले हैं जो नेपाल की पहाड़ियों से होते हुए राप्ती में मिलते हैं। इन नालों से आए पानी से लगातार राप्ती का जलस्तर बढ़ता जा रहा है।

जिले का तराई क्षेत्र हो नगर क्षेत्र हो या देहात क्षेत्र हर जगह बस पानी ही पानी नजर आ रहा है। जिले के तुलसीपुर से गौरा जाने वाले मार्ग पर दतरंगवा डिप पर तेज बहाव के कारण पूरा रास्ता बंद हो चुका है। जिससे तुलसीपुर गौरा का संपर्क टूट गया है। तुलसीपुर के लोगों को अब बलरामपुर होकर गौरा जाना पड़ रहा है।

वहीं अगर तराई की बात करें तो लैबुड़वा डिप पर पानी का तेज बहाव चल रहा है जिससे तराई क्षेत्र के लोगों का जिला मुख्यालय पर आगमन बमुश्किल ही हो पाता है। जिले के देहात क्षेत्र की बात करें तो रंजीतपुर, मन्नीपुर टिकुइया, मोहम्मदपुर, सोनार, रेहार, कटरा शंकर नगर व बिजलीपुर जैसे तमाम इलाके हैं जहां बाढ़ का पानी गांव तक फैल चुका है। जिससे लोग घरों में कैद होने को मजबूर हैं। प्रशासन लगातार मदद के दावे कर रहा है लेकिन वह मदद नाकाफी साबित हो रही है।

राप्ती जल बोर्ड पर तैनात कर्मचारियों की माने तो अभी नेपाल में पानी नहीं छोड़ा है तब भी राप्ती का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है ऐसे में अगर नेपाल पानी छोड़ता है तो बाढ़ की विभीषिका बेहद ही भयावह होगी।

विधायक ने किया बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा

वही बलरामपुर विधानसभा सीट से सदर विधायक पलटू राम ने बाढ़ की विभीषिका को देखते हुए बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा किया विधायक ने रंजीतपुर बिजलीपुर कटरा शंकर नगर रेलवे पुल सिसई सहित अन्य इलाकों का दौरा कर बड़ा ग्रस्त इलाकों की स्थिति जांचें साथ हैं सक्षम अधिकारियों को ग्रामीणों की सुविधा के लिए उक्त स्थान पर नाव की व्यवस्था किए जाने एवं जिन्हें खाने पीने की दिक्कत है उन्हें खाने पीने के लिए राशन किट उपलब्ध कराई जाए।

क्या कहते है जिम्मेदार

वही अपर जिला अधिकारी अरुण कुमार शुक्ला ने बताया कि जिले के कल्याणपुर इलाके में ज्यादा कटान की सूचना मिल रही थी जिस पर वहां राशन के व खाद्य सामग्री का वितरण किया गया है जिले में 100 से अधिक नाव लगाई गई है पल-पल की अपडेट बाढ़ चौकियों से ली जाती है आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन की पूरी तैयारी है। जहां भी हमें सूचना मिल रही है वहां खाद्य सामग्री भिजवाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।

patrika-newz-mobile-app