Home उत्तर प्रदेश ललिया में हुए रिंकू हत्त्याकाण्ड का हुआ खुलासा, मृतक का मोबाइल ढूंढने...

ललिया में हुए रिंकू हत्त्याकाण्ड का हुआ खुलासा, मृतक का मोबाइल ढूंढने में नाकाम रही पुलिस

136
0
blank
ललिया में हुए रिंकू हत्त्याकाण्ड का हुआ खुलासा, मृतक का मोबाइल ढूंढने में नाकाम रही पुलिस

बलरामपुर। यूपी के बलरामपुर में शौच के लिए निकले किशोर की हत्त्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। घटना में धारदार हथियार का इस्तेमाल किया गया था। पुलिस ने 3 दिनों की तफ्तीश के बाद हत्त्या में शामिल एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है। हत्त्या में इस्तेमाल की गई कुल्हाड़ी (आला कत्ल) भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया है कि गिरफ्तार अभियुक्त के परिवार की एक लड़की को वो बदनाम कर रहा था इसलिए अभियुक्त ने घटना को अंजाम दिया था।

मामला बीते 16 जनवरी का है। थाना ललिया के रतोही गांव का रहने वाला अजय तिवारी उर्फ रिंकू सुबह के वक्त शौच के लिए घर से निकला था। जब रिंकू शौच के लिए बैठा ही था तभी उसके सिर पर धारदार हथियार से वार कर उसकी हत्त्या कर दी गयी थी। घटना के बाद सीओ सदर ने टीम गठित कर जांच शुरू कर दी थी। 3 दिनों तक चली जांच में 4 संदिग्धों से लगातार पूछताछ की जा रही थी। पूछताछ के दौरान कृष्ण प्रकाश मिश्र उर्फ ननके ने अपना जुर्म कबूल कर लिया और पुलिस ने ननके की निशानदेही पर हत्त्या में प्रयुक्त हथियार कुल्हाड़ी भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। हालांकि पुलिस अभी भी मृतक का मोबाइल बरामद नही कर सकी है जबकि मृतक का मोबाइल घटना के 2 दिनों बाद तक ऑन ही था और घंटी भी जा रही थी।

मृतक रिंकू पर 2 महीने पहले भी चाकू से जानलेवा हमला हुआ था जिसमे रिंकू घायल हो गया था। इस हमले का आरोप गिरफ्तार कृष्ण प्रकाश उर्फ ननके के भाई पर लगा था और पुलिस ने उसे धारा 307 के तहत जेल भी भेजा था। अभी वह जेल में ही है।

पूरे मामले में सीओ सदर प्रेम कुमार थापा ने बताया कि हत्त्याकाण्ड में मृतक के बड़े भाई की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था। विवेचना के दौरान कृष्ण प्रकाश मिश्रा का नाम प्रकाश में आया था। गिरफ्तारी के बाद अभियुक्त ने बताया कि मृतक और उसके बीच पुरानी रंजिश थी। अभियुक्त की बेटी को मृतक बदनाम कर रहा था। मना करने के बावजूद नही मानने पर उसकी हत्त्या कर दी। उसी की निशानदेही पर आलाकत्ल कुल्हाड़ी को बरामद कर लिया गया है। उसे जेल भेजा जा रहा है। मोबाइल न बरामद होने के सवाल पर सीओ ने बताया कि तहरीर में मोबाइल का कोई जिक्र नही था न ही उसके गायब होने का कोई मामला प्रकाश में आया है।

patrika-newz-mobile-app